What is LED and History of LED in Hindi

हेलो दोस्तों आप सभीको श्वागत है एक नई लेख में, आज का जो topic है वह है LED के ऊपर। आप में से शायद कई सारे लोग को मालूम है और कई सारे लोग को नहीं भी मालूम है तो मैं बता देता हूँ कि LED जो लाइट आता है छोटी-छोटी आता है। दोस्तो आजकल इसका प्रयोग बहुत सारी जगह पर करते हैं जो decoration से लेकर बड़े-बड़े चीज रहता है।

आजकल हम लोग LED का प्रयोग करते हैं घर के decoration के लिए विभिन्न बाहर की building के और आप लोग अभी जो यंत्र का इस्तेमाल कर रहे हैं मतलब जिसको अंदर यह आर्टिकल देख रहे हैं चाहे मोबाइल हो या कंप्यूटर हो उसका जो screen है उसका अंदर भी LED का उपयोग किया गया है और हम जो रास्ते में चल रहे हैं तो जो street light देखने को मिलता है उसके अंदर भी एलईडी का इस्तेमाल किया गया है।बहुत सारे कारण है LED को इस्तेमाल करने का जैसे कि low maintenance या लाइट की रोशनी अच्छी देता है ।

LED क्या है

LED का full form है Light Emitting Diode. ये बिदूत धारको प्रकाश में परिबर्तित करता है।ये एक प्रकाश का P-N(Proton-Electron) junction diode है जिसने अर्ध चालक के रूप में Gallium arsonaid या iridium arsonaid का उपयोग करता है।LED में जो भी ऊर्जा मुक्त होती है उसका उपादान holes ओर electron के मिलने से junction पर होता है।

Symbol of LED

LED kaa symbol
Symbol of LED

Types of LED

History of light

दोस्तों जो हम LED का इतिहास के कर रहे थे उससे पहले हमें समझना पड़ेगा रोशनी के बारेमे,हमको जो रोशनी मिलने की सुरुआत हुआ था हो 1800 से हुई थी वह भी एक candel की जरिये।उसके बाद आया 1800 के आसपास आया oil gas lamp(lalthin), उसके बाद में लगभग 1879 के आसपास हम लोग normal जो बिजली का bulb आपको मालूम है उसका इस्तेमाल करना सुरु कियाथा और 1930 के आसपास fluoroscent लाइट को चालू किया था याने आपके घर में जो ट्यूबलाइट आती है उसका जो इस्तेमाल है लगभग 1930 के आसपास किया गया था।

उसके बाद 1970 से लेकर 1980 दशक में CFL lamp का प्रयोग किया गया था और जो LED bulb है आजकाल हर जगापे पर जो common है आपके घरों में भी शायद राहहोगा। स्ट्रीट लाइट पर government इस्तेमाल करते हैं उसको शुरुआत 2006 में हुआथा ।

History of Lightning
History of Lightning

History of LED

LED bulb आजकाल हर जगापे उपयोग हो राहा है, आपके घरों में भी शायद राहहोगा,स्ट्रीट लाइट पर government ने भी इस्तेमाल करते हैं। तो अब जानते है कि research कंहासे सुरु हुआथा ओर किसने सुरु कियाथा

Henry Joseh

लगभग 1960 में ब्रिटिश प्रोयोगकर्ता Henry joseph ने पहली बार देखा था कि जब 10volt की ख्यमता की cilicon carbide crystol के ऊपर लागू किया जाता था तो ये पीले रंग का रोशनी उत्पन्न करता है। इन्होंने सबसे पहले नोटिस किया था और इनकी जो जो किताब होता है उसमें लिखा हुआ था हालांकि ये बात उन्होंने सोचभि नेहीथा कि ये इतना बड़ा आविष्कार साबित हो सकता है। उसके बाद 20 साल तक किसीने उस topic को छेड़ा ही नहीं। किसी ने उस टॉपिक पर ज्यादा research नहीं किया लेकिन लगभग 1927 के आसपास एक russian scientiest थे जिनका नाम था Oleg vladimirovich Losev.

Oleg Vladimirovich Lose

इन्होंने 1927 के अंदर एक paper publish कियाथा जिनका light effect जो था उसके ऊपर इन्होंने कुछ लिखन प्रस्तुत कियाथा जिनमें बताया गया था कि एक current को अगर एक diode में से पास किया जाता है तो उसमें से कुछ रोशनी उत्पन्न होता है just उन्होंने इतना एक लिख pracharit कियाथा और इस लेख का नाम था Luminous carborundum detector and detection effect and oscillations with crystals.

इसमें उन्होंने बताया था इसी प्रकार की रोशनी के बारे में और साथ ही साथ एक प्रकार की radio light के बारे में उन्होंने बतायाथा। जिसको आज हम infrared light के बारे में जानते हैं इसको ये research नहीं कियाथा उन्होंने उसको एक और purpose कियाथा।

Georges Destriau

उसके बाद लगभग 1936 के अंदर Gerges Destriou ने देखा कि zink नामक जो zink sulphide(zus) रहता है उसके powder के अंदर अगर मैं कुछ electric field का apply कर देता हूं तो इसके अंदर से एक radium नाम का पदार्थ बनाया जाताथा यानिकि एक प्रकार का रोशनी निर्माण की जाती है radium जिसको आज हम लोग पहचानते है,इनकी जो सुरुआत हालांकि इसको ओर LED का कुछ लेनादेना नेही है लेकिन बताना जरूर था किउंकि radium भी उसी research में लाया गेयाथा हालांकि radium अलग है उसका जो प्रोसेस है वो भी अलग है।

उसके बाद लगभग 1951 के अंदर transistor का research कियागेया। आजकाल आप जो mobile, computer, TV इस्तेमाल कर रहे है उसके अंदर जो micro control हर जगापे transistor का इस्तेमाल किया जाता है।

Rubin Braunstein

उसके बाद लगभग 1955 कर अंदर एक scientiest है जोकि radio conferance America में काम करते थे,जिनका नाम था Rubin Braunstein . ये एक ऐसा पाया कि diode में से जाबिभी current को जोड़ते है इनमेसे एक infrared light का निर्माण होती है।इन्होंने just ऐसा एक प्रकार से report बनाया गेयाथा लेकिन उसके ऊपर जो गेहरा आध्यान कियाथा वो 1961 में Gary pittman and Bob Blard ने मिलके कियाथा।

Gary Pittman and Bob Board

1961 मैं इन दोनों ने मिलकर taxas instrument founder मैं काम करतेथे। इन्होंने एक research किया की gallium arsenide के अंदर एक प्रकार का जब current दिया जाता है उसमें से एक infrared light का निर्माण किया जा सकता है। जितनी बार हम लोग करंट देंगे इनमें से इंफ्रारेड लाइट निर्माण होता है और ये research बहुत ज्यादा पोपुलर हुआ है क्योंकि आज हम लोग हर जगह पर infrared light का इस्तेमाल करते हैं। आपको मालूम रहेगा कि जो हमारा TV के रिमोर्ट कंट्रोल रहता है वंहापर भी इसका इस्तेमाल किया जाता है।

इनका जो research हुआ था 1961 में ये एक प्रकार का LED ही है,लेकिन infrared, जो रोशनी हमारा आंखों से नहीं दिखाई देता है इस प्रकार की जो लाइट का research किया गया था वह उन्होंने 1961 में रिचार्ज किए।

Nick Holonyak jr

इसके बाद लगभग 1962 के अंदर Nick Holknyak jr ने एक आविष्कार कियाथा लाल रंग की लाइट का।ये सबसे पेहला LED था जो लाल रंग का रोशनी निकलती थी और ये जो रोशनी था हमारे आंखोमें दिखाई देने वाली रोशनी था। Actually में माना जाए तो 1962 से इसकी जो development करनेकी सुरुआत हुईथी किउंकि इसे पहले जो रिसर्च हुआथा दिखाई नही देतथा। Infrared light पे जो ज़्यादा देर research हुएथे ओर एक 1907 मे जो हुआथा वो रोशनी yellow रंग का था और बोहोत ही कम रोशनी देताथा ।

M. George Crawford

10 साल के बाद यानिकि 1972 के आस पास George Craford ने एक ऐसा innovation किया कि प्रथम yellow LED लाइट का निर्माण कियाथा।उसके बाद लगभग 1972 में एक violet रंग की LED लाइट का निर्माण हुआ।

Thomas p. Pearsall

Thomas p. Pearsall ने एक ज़्यादा brightness लाइट का निर्माण कियाथा 1976 में इसको जो इस्तेमाल करतेथे वो fiber optical telecommunication के लिए हम लोग आज की तारीख में भी कर रहे है।उसके बाद Shuji Nakamur जो कि Niche communication के अंदर का काम करतेथे जिन्होंने प्रथम blue LED लाइट बनाया था हालांकि बोहोत expensive थी एक आम इंसान बस की बात नेही थी।ये 1994 में ही commercial purpose के लिए लाया गेयाथा।

Application of LED

  • डिफLED का उपयोग अनुप्रयोगों में किया जाता है automobile headlamp, general lighting, lighted wallpaper,horticultural grow lights,medical device.
  • इन LED का उपयोग डिजिटल कंप्यूटर और calculator, ट्रैफिक सिग्नल और burglar alarm सिस्टम में किया जाता है।
  • Measuring डिवाइस और interacting के साथ कोई मानवीय दृष्टि शामिल प्रक्रियाओं का उपयोग नहीं किया जाता है।
  • Narrow band लाइट सेंसर LED reverse-bias मोड में काम करते हैं और प्रकाश उत्सर्जित करने के बजाय घटना प्रकाश का जवाब देते हैं।डि

LED और LCD में क्या अंतर होता है। (Difference between LED and LCD)

LEDLCD
Full form Light Emitting DiodeFull form Liquid Crystall Display
ये लाइट emitting based काम करता है।ये light crystall based काम करता है।
इसका picture quality LCD से अच्छा होता है किउंकि इसमे VA pannel या IPS pannel का इसतेमाल किया जाता है।इसका picture quality LED से थोड़ा कम होता है।
LED में colour quality LCD के मुक़ाबिले अछे होते है किउंकि इसमे 8GB LED backlight का इस्तेमाल होता है।colour quality LED के तरहा अच्छा नेही होता।
इस में mercury का इस्तेमाल नेही होता है।इस में mercury का इस्तेमाल होता है।
इसका का दाम 10,000 से लेकर 7,00,000 तक भी होता हे।LCD का दाम 6,000 से लेकर 40,000 तक देखने को मिलती है।
All LED are subset of LCD TV.All LCD are not a subset of LED TV.
Different between LED and LCD

Advantages of LED/ एलईडी के फायेदा

  • एलईडी की चमक को वर्तमान को अलग करके आसानी से नियंत्रित किया जा सकता है ।
  • ये आकार में हल्के वजन के होते हैं और जीवनकाल में लंबे होते हैं।
  • डीजल बहुत सस्ते में आसानी से उपलब्ध है और कम ऊर्जा की खपत करता है
  • एलईडी बहुत तेजी से काम करते हैं
  • ये प्रकाश के विभिन्न रंगों का उत्सर्जन कर सकते हैं।
  • आपको बता दें कि जहरीले पदार्थ में वर्कर जैसी सामग्री नहीं होती है जिसका उपयोग फ्लोरोसेंट लैंप में किया जाता है।

Disadvantages of LED / एलईडी के नुकसान

इसकी मुख्य नुकसान दक्षता कम हैं और उन्हें अपने सामान्य P-N junction diode को संचालित करने के लिए अधिक शक्ति की आवश्यकता होती है ।

अधिकतर पूछे जाने वाले सवाल

1. LED स्ट्रीट लाइट की कीमत कितना होता है ?

जब पहेले LED आया था तब इसका कीमत बहुत था पर अभी अभी लोगों के जरूरत को देखकर इसका कीमत बहुत घट गया है। एक साधारण LED स्ट्रीट लाइट की कीमत बजार में ₹ 500 से सुरू हो जाता है। आप चाहे तो amazon की लिंक पे जाकर देख सकते हें।

2. Infy pixel LED का क्या कीमत है ?

infy pixel LED को आप खरीदना चाहते हें तो सबसे सस्ता और कम दाम में ₹499 के लग जाएगा पर हमारी ये सलाह के की और कुछ पैसा देकर एक अच्छे वाला infy pixel LED लीजिये जो की थोड़ा quality में अच्छा रहेगा। और amazon में ये अच्छे क्वालिटी वाला LED ₹999 हो जाता है।

3. LED बल्ब के लिए 6 volt 4.5 ah battery की कीमत कितना है?

LED बल्ब के लिए 6 volt 4.5 ah battery की कीमत भारत देशों पर ₹400 से सुरू हो जाता है।

4. एक अच्छा क्वालिटी LED TV का कीमत कितना है ?

एक अच्छा क्वालिटी LED TV का कीमत ₹7,000 से सूरु हो जाता है। हमने Reliance Digital पर उपलब्ध एक TV का लिंक यहां पे दिया है।

LED का पूरा नाम क्या है?

LED का पूरा नाम है – Light Emitting Diode जिसका हिन्दी अर्थ है प्रकाश उत्सर्जक डायोड

Conclusion

उमीद करते है कि आपको हमारा ये लिख पसंद आया होगा। हम यंहापर आप को What is LED and History of LED के बारेमे बताए हें ओर आपको ये लिख केसा लगा कमेंट में जरूर बताइये। हम पूरी कोशिश कर रहे है कि आपके जरिये ऐसे ही नई नई लिख पहुंचा जा सके।

saktiprasad

में एक SEO लेखक हूँ। मुझे कम्प्युटर के बारे में रिसर्च करना और दूसरों के साथ शेयर करना अच्छा लगता है। फिलहाल के लिए में कम्प्युटर शिक्षा में लिखता हूँ। इसके अलावा में दूसरों के लिए भी SEO लिखता हूँ। आप मुझे मेरा सोशल मीडिया पर फॉलो करसकते हें।

saktiprasad has 33 posts and counting. See all posts by saktiprasad

Leave a Reply

Your email address will not be published.