5G Technology kya hai aur 5G Advance Features

आप कभी ना कभी स्मार्टफोन का इस्तेमाल जरूर किया होंगे। ज्यादातर हम मोबाइल को किसी के साथ बात करने के लिए इस्तेमाल करते थे पर स्मार्टफोन आने के बाद हम इस पर इंटरनेट का भी इस्तेमाल करने लगे।

किसी के साथ बात करना हो या इंटरनेट का इस्तेमाल करना इसके लिए जरूरत होता है मोबाइल की नेटवर्क और एक सिम जहां पर मोबाइल की डाटा आता है।मोबाइल से बात करना हो या इंटरनेट में इस्तेमाल करना इसकी लेटेंसी के ऊपर मोबाइल नेटवर्क का जनरेशन निर्भर करता है।

आप 2G, 3G, 4G का नाम जरूर सुने होगे। 4जी के बाद अभी 5G का एक क्रेज है।आखिर में क्या आप जानते हैं 5G टेक्नोलॉजी के बारे में 5G टेक्नोलॉजी कैसे काम करता है और 4G से यहां कैसे बेहेतर है। आज हम यह सवालों के ऊपर आलोचना करने वाले हैं।

पहले के जमाने में wired phone आते थे जिसमें तार लगा हुआ करता था। जिसको हम टेलीफोन के नाम पर जानते हैं। पर जैसे-जैसे हमारा टेक्नोलॉजी का प्रगति होने लगा वैसे वैसे Wireless Phone आ गया और हमने स्मार्टफोन का इस्तेमाल करने लगे। स्मार्टफोन इस्तेमाल करने के लिए हमको एक SIM का इस्तेमाल करना पड़ता है।

सिम जो होते हैं कोई प्रकार के जनरेशन में उपलब्ध होते हैं जैसे कि 2G 3G और 4G.विगत कुछ सालों को दिखा जाए तो उन दिनों में हमारा मोबाइल टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में बहुत सारे प्रगति देखने को मिली है।

हर 10 साल में एक नया नया जनरेशन का आविष्कार हुआ है। पहले के जमाने में 1G हुआ करता था जो कि 1980 में आया था। उसके बाद 1990 में 2G, 2000 में 3G और 2010 में 4G आ चुका है। और अभी 5G का बारी है।

5G technology क्या है?

5G का पूरा नाम है Fifth Generation(फिफ्थ जेनरेशन)। इसको मोबाइल जनरेशन का पांचवा पीढ़ी बोला जाता है। अभी तक 5G मोबाइल जेनरेशन की क्षेत्रमें सबसे नया टेक्नोलॉजी माना जाता है।

5G Technology
5G Technology

5G Technology को खास तौर पर wireless network के speed और Responsiveness को और भी बढ़ाने के लिए engineered किया गया है।5G टेक्नोलॉजी में वायरलेस ब्रॉडबैंड कनेक्शन के द्वारा हम कम से कम 20 Gbps डाटा को ट्रांसफर कर सकते हैं।

इसमें ऐसा टेक्नोलॉजी है जो मोबाइल और नेटवर्क टावर कि अंदर दुरत्व (Distance) को कम करने में(Ultra Low Latency) मदद करती है उसके साथ साथ मल्टी जीपीएस डाटा स्पीड को पहुंचाने को सक्षम है।

5G Technology के विशेषताएं

  • 5G Technology मे नेटवर्क हर समय में उपलब्ध रहता है इसीलिए इसका उपलब्धता (availability) 99.999% तक है।
  • इसका latency 1 millisecond है।
  • 5G technology में bandwidth 1000X ज्यादा होता है।
  • यह टेक्नोलॉजी एनर्जी बचाने के लिए बहुत लाभदायक साबित हो सकता है मतलब यह 90% तक Network energy usage को कम कर सकता है।
  • ये 100% तक Coverage प्रदान करने को सक्षम है।
  • 5G network हर समय उपलब्ध होने के कारण इसका Buffering Rate कम होता है इसीलिए मोबाइल में यह Low Battery Consumption करता है।
  • यह 4G नेटवर्क की तुलना से योगायोग (Communication) की क्षेत्र में ज्यादा विश्वसनीय(reliable) है।

5G Technology काम केसे करता है

जितना भी wireless network होते हैं और ज्यादातर Cell Sites होते हैं जो कि अलग-अलग सेक्टर में भाग हुए होते हैं। यह नेटवर्क्स को हम Radio waves के द्वारा कहीं पर भी भेज सकते हैं। यदि हम फोर्थ जेनरेशन का बात करें तो इसमें High power वाला cell tower जरूरत हो तो थे जो Signals को Long Distance में Radiates करते थे।

पर यदि हम 5G की बात करें तो यहां पर बहुत सारे छोटी-छोटी Cell stations का जरूरत होती है जिसको हम किसी भी Light Poles या Building roof में लगा सकते हैं। ये मिलीमीटर Wave Spectrum का इस्तेमाल करता है क्योंकि Spectrum Band जो होते हैं वो सब 30GHz से लेकर 300 GHz के अंदर रहते हैं।

5G Technology छोटी दूरी तक यात्रा करने के लिए High Speed का उत्पादन करती है। इसका सिग्नल किसी भी प्रकार के मौसम का हो या किसी प्रकार के शारीरिक बाधाएँ(Physical Obstacles) को दखल नामा करने के लिए सक्षम है।

Advance Features Of 5G Technology

अभी हमने जान लिया कि 5G क्या होता है और 5G टेक्नोलॉजी कैसे काम करता है। 5G Technology आने से क्या-क्या फीचर्स हम को मिलने वाले हैं आइए अभी उसके ऊपर नजर डाल लेते हैं।

  • इसका Latency से 1 मिली सेकंड है
  • यह 1000X bandwidth per unit area के हिसाब से प्रदान करती है।
  • यह Minimum 10 से लेकर 100 डिवाइस तक एक साथ संपर्क रख सकती है।
  • ये Worldwide Coverage प्रदान करती है।
  • 5G Technology 90% तक Energy Consumption को बचाता है।
  • Long Battery Life

5G के फायदा (Advantage)

  • आप 4G नेटवर्क की तुलना से और भी ज्यादा अच्छे Downloading और Uploading Speed का आनंद उठापाएंगे।
  • 5G टेक्नोलॉजी में किसी भी चीज को Monitoring करना बहुत आसान हो जाएगा। जिससे सरकारी संस्था और क्राइम रेट को कम करने में बहुत मददगार साबित होगा।
  • पहले वाली जनरेशन नेटवर्क से इसको बहुत आसानी से Manage किया जा सकता है।
  • ये ज्यादा Effective और Efficient है।इस टेक्नोलॉजी की मदद से सभी नेटवर्क्स को एक ही प्लेटफार्म पर इस्तेमाल करपायेंगे।
  • इसमें Bi-Directional Large Bandwidth के साथ साथ High Resolution मिलने वाला है।

5G के नुकसान(Disadvantages)

  • 5G Technology का काम अभी तक Under Process में है और अभी तक इसके बारे में रिसर्च किया जा रहा है।
  • हमारा जितना भी पुराना डिवाइस पर यह 5G नेटवर्क के साथ Compartible ना हो सकता है।
  • इसका infrastructure को बनाने में बहुत ज्यादा पैसा खर्च होने वाले हैं अतः यह ज्यादा कॉस्टली हो सकता है।
  • आगे जाकर यह बहुत महंगा होने वाला है क्योंकि इसका infrastructure ज्यादा Costly होने वाला है।

Conclusion

आज हमने देखा कि 5G क्या होता है, इसके कुछ advance Features और इसका फायदा और नुकसान का बारे में। मुझे उम्मीद है कि आपको यह लेख समझ में आया होगा। यदि आप 5G के बारे में कुछ भी सलाह या कुछ पूछना चाहते हैं तो आप हमारा कमेंट बॉक्स में हमको जरूर बताएं। हम आपको टेक्नोलॉजी बारे में जुड़ी हुई चीजें और कंप्यूटर शिक्षा से संबंधित सभी चीजों को आसानी भाषा में समझाने का प्रयास करते हैं जैसे कि आपको सब समझ में आ जाए।आपको यहां से कुछ सीखने को मिला था आप हमारा यह लेख को अपने दोस्त को साथ शेयर करके इसके बारे में जरूर बताएं। धन्याबाद

Manas Ranjan

Graduate By Education, Blogger By Profession, Computer Learner By interest, Travel & Explorer By Hobby

Manas Ranjan has 49 posts and counting. See all posts by Manas Ranjan

Leave a Reply

Your email address will not be published.