इंटरनेट प्रोटोकॉल(आईपी एड्रेस) क्या है और 4 प्रकार के आईपी एड्रेस

यदि आपके पास कंप्यूटर या मोबाइल है आप आईपी एड्रेस के बारे में जरूर सुना होगा। क्या आपको पता है आईपी एड्रेस क्या है। आईपी एड्रेस के कितने प्रकार होते हैं। तो आज हम इसके बारे में जानने जा रहे हैं।

इंटरनेट प्रोटोकॉल(आईपी एड्रेस) के बारे में जानने से पहले मैं आपको एक प्रश्न पूछना चाहूंगा। आप इसका उत्तर हमारा कमेंट बॉक्स में जरूर दीजिए। क्या आप कभी ऑनलाइन से किसी प्रकार के चीज मंगाए है? यदि हां वहां पर आपको अपना सारी जरूरी इंफॉर्मेशन देना होता है जिससे कि वह चीज आप के रहने वाले एड्रेस में आकर पहुंच पाए। जरा सोचिए क्या आपके पास वह चीज पहुंच पता यदि आप अपने पूरा एड्रेस नहीं देते? कभी भी नहीं। IP address का काम कंप्यूटर पर ही होता है। आइए जान लेते इंटरनेट प्रोटोकॉल(आईपी एड्रेस) का परिभाषा क्या है?

इंटरनेट प्रोटोकॉल(आईपी एड्रेस) क्या है

इंटरनेट प्रोटोकॉल यानी आईपी एड्रेस एक यूनिक एड्रेस बताएं जो इंटरनेट और लोकल नेटवर्क पर हमारी डिवाइस के साथ कम्युनिकेशन के लिए इस्तेमाल होता है। इसको हम इंटरनेट प्रोटोकोल भी बोलते हैं मतलब इसका पूरा नाम होता है इंटरनेट प्रोटोकोल। संपूर्ण रूप में यह एक इंटरनेट में आईडेंटिफायर है जो हमारा लोकेशन जैसे तथ्य को उसके साथ रखता है, इसलिए के यह हमारा डिवाइस को कम्युनिकेशन के लिए एक्सेस कर पाए। अभी तक दो Versions में उपलब्ध हुआ है। यह है 1. IPv4 2. IPv6

इंटरनेट प्रोटोकॉल(आईपी एड्रेस) के वर्जन

IPv4 and IPv6 इंटरनेट प्रोटोकॉल(आईपी एड्रेस)
IPv4 and IPv6 IP address

IPv4

1983 मैं Develop किया गया था। IPv4 32 bit में उपलब्ध होते हैं जो कि दसमलक यानी Decimal फॉर्मेट पर चार अलग-अलग पार्ट में बिभजित होते हैं। यह decimal को छोड़कर बाइनरी और हेक्साडेसिमल फॉर्मेट में भी उपलब्ध होते हैं। पहले के समय में IPv4 आईपी ऐड्रेस बहुत कम डिवाइस में उपलब्ध होते थे और अभी के समय में लगभग सारे डिफेंस में ipv4 इंटरनेट प्रोटोकॉल(आईपी एड्रेस) उपलब्ध हो जाते हैं।

IPv6

आप जानते होंगे अभी का जमाना डिजिटल का जमाना है यहां पर इंटरनेट उपभोक्ताओं का संख्या बढ़ते जा रहा है। उसी को देखकर बाद में जाकर IPv6 को डेवलप किया गया। जहां पर कोई समय में अगणित ip-address को बना जा सकता है। IPv6 182 bits मैं उपलब्ध कराया गया जहां पर ipv4 सिर्फ 32 bits का होता है। यहां पर कोई सरी तकनीक को इस्तेमाल किया गया हे जिसके द्वारा यह इतना समर्थ हो गया क्या यह पूरी के पूरी नेटवर्क मैं अपने आप कुछ बदलाव कर सकता हैं। आजकल जितना भी कंप्यूटर आते हैं और जितना भी सर्भर आ रहे सभी IPv6 आईपी एड्रेस का सपोर्ट करते है।

इसेभी पढ़िए – Computer Network

इसेभी पढ़िए – डिजिटल कंप्यूटर क्या है

IP address केसे पता करे

यदि आप अपना इंटरनेट प्रोटोकॉल(आईपी एड्रेस) पता करना चाहते हैं तो मैं अभी दोस्तों बताऊंगा जिसकी मदद से आप अपना आईपी एड्रेस को आसानी से पता लगा सकते हैं।

ऑनलाइन से

यदि आपके पास इंटरनेट का कनेक्शन मौजूद है तो आप उसको बहुत आसानी से पता कर सकते हैं आपको किसी भी डिवाइस पर इंटरनेट प्रोटोकॉल(आईपी एड्रेस) जानना हो तो उसी डिवाइस का ब्राउज़र पर जाकर What is My IP address लिख कर सर्च करना है आपके सामने आप का आईपी ऐड्रेस दिखाई देगा। नहीं तो आप ये Website whatismyipaddress.com पे जाकर अपना आईपी एड्रेस देख सकते हैं। यह सभी से आसान तरीका है जिसके द्वारा आप अपना आईपी एड्रेस को आसानी से ढूंढ सकते हैं।

ऑफलाइन से

कभी-कभी ऐसा होता है कि आपके पास इंटरनेट का कनेक्शन मौजूद नहीं रहता इसी खेत्र में आप को कुछ आसान तरीका Follow करना होगा जिसकी द्वारा आप अपना इंटरनेट प्रोटोकॉल को ढूंढ सकते हैं। यह अलग-अलग डिवाइस में अलग-अलग प्रकार में ढूंढा जा सकता है। आइए देख लेते हैं ये सब प्रक्रिया को।

  • Android Phone(एंड्रॉयड फोन)

Settings पर जाएं > उसके बाद About Phone > Status > IP address

  • iPhone (आईफोन)

Setting पर जाएं > WiFi ऑप्शन्स को चुने > Click i in a circle > IP address in the DHCP tab

  • Windows (विंडोज़)

कमांड का इस्तेमाल करें > Windows सर्च में CMD लिख के इंटर करे > “ipconfig” टाइप करे (बिना कोटेशन का)> Copy the IP address

IP address के प्रकार

आईपी ऐड्रेस बहुत सारे होते हैं। जहां पर आईपी ऐड्रेस कोई सारे नंबर और लेटर में बना हुआ होते हैं उन इंटरनेट प्रोटोकॉल(आईपी एड्रेस) का अलग-अलग काम भी होते है। तो आइए देख लेते हैं आईपी ऐड्रेस का कुछ प्रकार।

Private IP address

1.Private IP address को नेटवर्क के ‘Inside’ मैं इस्तेमाल किया जाता है। यह हमारा घर के अंदर इस्तेमाल होता है। Private IP address को राउटर तथा दूसरे डिवाइस के साथ कम्युनिकेशन करने के लिए कनेक्ट किया जाता है और यह सिर्फ प्राइवेट नेटवर्क मैं इस्तेमाल किया जाता है। Private IP address का सेट अप मैनुअली राउटर के द्वारा किया जाता है।

Public IP address

Public IP address को नेटवर्क के ‘Outside’ में इस्तेमाल होते है जो कि ISP (Internet service provider) के द्वारा Assign होता हैं। ये एड्रेस एक में एड्रेस होता है जो कि हमारा घर तथा बिजनेस का नेटवर्क को दूसरी अलग डिवाइस के साथ कम्युनिकेट करता है। इस के द्वारा पूरा विश्व में जहां पर भी जो device होता है ये मायने नहीं रखता, पब्लिक आईपी एड्रेस सभी के द्वारा हम कम्युनिकेट कर सकते हैं।

Dynamic IP address

ये यूजर को temorary के तौर पर इस्तेमाल करने के लिए allow करता है। यदि dymanic IP address काम में नहीं होता तो ये दूसरा डिवाइस को assign कर लेता है। ये केवल DHCP और PPPoE के द्वारा assign होता है।

Static IP address

जैसे कि हमने बताया डायनेमिक आईपी एड्रेस को DHCP के सहायता से assign किया जाता है, कभी भी एक डिवाइस पर DHCP enabled नहीं होता या सपोर्ट नहीं करता है तो इसको मैनुअली assign किया जाता है। यही खेत्र में IP address को Static IP address कहा जाता है। Private IP address और public IP address दोनों Dynamic IP address या Static IP address भी हो सकते हैं।

Dynamic और static IP address में अंतर

Dynamic IP addressStatic IP address
1.डायनेमिक आईपी ऐड्रेस DHCP के द्वारा प्रोवाइड किया जाता है। स्टैटिक आईपी ऐड्रेस ISP (Internet service provider) के द्वारा प्रोवाइड किया जाता है।
2.यह कभी भी किसी भी समय पर चेंज हो सकता है। Static IP address डायनेमिक आईपी ऐड्रेस की तरह किसी भी समय में चेंज नहीं हो सकता। यदि स्टैटिक आईपी ऐड्रेस को Provide किया गया है तो आप उसमे किसी भी प्रकार के चेंज या मॉडिफाई नहीं कर सकते।
3.इसमें स्टैटिक आईपी एड्रेस की तुलना से थोड़ा कम रिस्क रहता है।सिक्युरिटी के मामले में ये ज्यादा सिक्योर नहीं है।
4.इसको Designate करना आसान है। इसको Designate करना बहुत मुश्किल है।
Difference between Dynamic and Static IP addresses

आज आपने क्या सीखा

आज आपने सिखा की इंटरनेट प्रोटोकॉल(आईपी एड्रेस) क्या है यह कितने प्रकार के होते हैं। उसको छोड़ के हम कैसे एक आईपी एड्रेस को ढूंढ सकते हैं और उनके आए हुए प्रश्न के बारे में भी बात किए। मुझे उम्मीद है कि आपको यह सब समझ में आया होगा। यदि आप कुछ सलाह और पूछना चाहते हैं तो आप हमको कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं। हम सदा आपका कमेंट का इंतजार करते हैं। यह लेख आपको अच्छा लगा है तो आप अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। धन्यवाद्।

Manas Ranjan

Graduate By Education, Blogger By Profession, Computer Learner By interest, Travel & Explorer By Hobby

Manas Ranjan has 49 posts and counting. See all posts by Manas Ranjan

Leave a Reply

Your email address will not be published.