Computer port kya hai in hindi

Port एक कंप्यूटर सिस्टम के सर्किट होते है जो कि external डिवाइस को कंप्यूटर सिस्टम के साथ attached के लिए इस्तेमाल होती है और external डिवाइस कोई प्रिंटर हो सकता है या कीबोर्ड हो सकता है या फिर कोई माउस भी हो सकता है।जितनेभी communication ओर external के देहरान होती है वो पोर्ट की मतलब से होती है।

Types of Port

Serial Port

सीरियल पोर्ट एक धारावाहिक हार्डवेयर डिवाइस को एक बार में एक बिट सूचना प्रसारित करके कंप्यूटर के साथ संचार करने की अनुमति देता है। Serial hardware(mouse, modem and keyboard)जो है इनको ज़्यादा transmission rate की जरूरत नही होती इसीलिए सीरियल पोर्ट के साथ attached होती है।सीरियल पोर्ट को communication पोर्ट भी काहा जाता है। जो कि कंप्यूटर सिस्टम ओर external डिवाइस के देहरान communication का एक जरिया है।ये 9 पिन का कनेक्टर होता है।

Diagram

Serial port kaa image hai
Serial port

अगर इसकी आकृति की बात करें तो यह छोटी होती है जिसमे डाटा की ट्रांसमिशन पोर्ट के तुलना कम होगा। यह छोटा है इसीलिए इसमें डाटा भी कम कम गति से जाएगा और यह parallel पोर्ट के तुलना धीमी होती है और इसमें हम कीबोर्ड, माउस आदि इस्तेमाल करते हैं।

Parallel Port

ये एक्सटर्नल डिवाइस को कंप्यूटर के साथ जोड़ने के लिए इस्तेमाल होती है,और एक्सटर्नल डिवाइस जो कि ज्यादा bits में डाटा को हासिल कर सकते हैं या डाटा को ट्रांसमिट कर सकते हैं वो जो डिवाइस से कंप्यूटर सिस्टम के साथ जोड़ा जाती है वह parallel पोर्ट के जरिए जोड़ा जाती है। ये serial पोर्ट से ज्यादा कम करती हैं हैं। प्रिंटर और स्कैनर को,जो कि large amount of data को ट्रांसमिट करती है तो यह सारे डिवाइस parallel पोर्ट के साथ जोड़ा जाता है।

Diagram

Image of parallel port
parallel Port

यह किसी प्रिंटर और स्कैनर को जोड़ने के लिए कंप्यूटर सिस्टम के साथ जुड़ता है यह सारे पोर्ट् कंप्यूटर के पीछे होती है।

USB Port

इसका पूरा नाम है Universal Serial Bus. यह peripheral डिवाइस को कंप्यूटर सिस्टम के साथ जोड़ने के लिए इस्तेमाल होती है। peripheral डिवाइस एक ऐसी डिवाइस है जोकि इनपुट ओर आउटपुट डिवाइस है। ये पोर्ट को 1997 में परिचित किया गेया। इनमें 4 pin होती है पेहला वाला +5volt के लिए होता है, द्वितीय डाटा माइनस के लिए, तृतीय बाला डाटा प्लस के लिए ओर चतुर्थ ground के लिए होता है।

Diagram

Image of USB port
USB Port

इनमे हम USB कनेक्टर की मदत से कोईभी डिवाइस जोड़ सेकता है कंप्यूटर सिस्टम के साथ।

PS/2 Port

ये पोर्ट हमारे माउस ओर कीबोर्ड को कनेक्ट करता है जो कि हमारा socket लेवेल पे होता है वो फीमेल कनेक्टर ओर जो हमारे plug levele पे होता है वो male कनेक्टर होता है। इनमे 6 पिन होता है पेहला पिन डेटा को carrie करता है,द्वितीय पिन not implemented के लिए , तृतीय पिन ग्राउंड के लिए, चतुर्थ पिन a+5 volt के पावर supply होता है,पंचम वाला bandwith को कंट्रोल करता है और षष्ठ पिन not implemented के लिए होता है।

Ps/2 Port
PS/2 port

VGA Port

इसका पूरा नाम नाम है Video Graphic Array. इसमें 15 दिन का कनेक्टर होता है यह 1978 में आईपीएल द्वारा परीक्षित किया गया यह एनालॉग सिगनल में इस्तेमाल होता है। यह एनालॉग वीडियो सिग्नल का सबसे अच्छा उपयोग करता है जो अब एक दिन से बचा है। यह आसानी से 60hertz पर 1920 by1200 के संकल्प का समर्थन कर सकता है।

VGA port
VGA port

Display Port

नवीनतम संस्करण डिस्प्ले पोर्ट 1.3 एक रिज़ॉल्यूशन को 7680 × 4320 तक संभाल सकता है।पोर्ट के कुछ ऐप्पल कंप्यूटर पर कौन सा पोर्ट पाया जा सकता है पोर्ट के वर्जन के आधार पर पीसी की रिज़ॉल्यूशन डेट अलग-अलग होगी, लेकिन यह 4k तक जाती है और यह काफी वर्सेटाइल होती है।

Display Port
Display Port

RJ-11

इसका मतलब होता है Registered Jack. यह ज्यादा देर फोन में कनेक्ट होता है इसमें डाटा ट्रांसफर करने के लिए 6 conductive wire लगा होता है।

RJ-45

यह ज्यादा देर broadband modem पर इस्तेमाल होता है,और जहांपर हम डाटा ट्रांसफर करना हो वहां पर इस्तेमाल होता है। इसमें डाटा ट्रांसफर के लिए 8 पिन कनेक्टर होता है।

Audio Port

यह पोर्ट audio डिवाइस को कंप्यूटर के साथ कनेक्ट करने में मदद करता है चाहे वो एनालॉग हो या डिजिटल हो यह उसी कनेक्टर के ऊपर निर्भर करता है।

Ethernet

ये पोर्ट ईथरनेट केबल को कंप्यूटर के साथ जोड़ने के लिए इस्तेमाल होता है और यह 10 mbps से लेकर 100mbps तेजी से गति करता है करता है।

HDMI

इसका पूरा नाम है High Defination Multimedia Interface. इसका इस्तेमाल हम कंप्यूटर के साथ प्रोजेक्टर ओर डिजिटल टेलीविज़न को जोड़ने के लिए किया जाता है।

Fire Wire Port

इसको हम video डिवाइस ओर camcoder को कंप्यूटर के साथ जोड़ने के लिए इस्तेमाल करते है।

Virtual Port

ये पोर्ट का इस्तेमाल कंप्यूटर नेटवर्क के लिए किया जाता है, इसकी सहायता से बिभिन्न application software को चलाने के लिए अनुमति दी जाती है। सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन जेसेकि FTP(File Transfer Protocol),HTTP(HyperText Transfer Protocol),TCP/IP(Transmission Control Protocol)/(Internet Protocol).

आज आपने क्या सीखा

आज हमने सीखा की कंप्यूटर पोर्ट क्या है और उसके प्रकार के बारेमे, आपको ये लिख कैसा लगा राय जरूर देना ताकि हम भी जान सके कि हमारा ये लिख आपको कितना पसंद आया हो। Thank you

Write some interesting