digital computer in hindi and digital computer ke karya

हेलो दोस्तो आप सभीको स्वागत है एक नई लिख में, पहला बाला लिख में हम एनालॉग कंप्यूटर क्या है की बारेमे जाने थे लेकिन यंहा पर हम बात करेंगे digital computer क्या है और उसके प्रकार के बारेमे। दोस्तो कंहीना कंहीपे तो आप डिजिटल कंप्यूटर के नाम तो सुना ही होगा तो अभी हम जानेंगे ये जो डिजिटल कंप्यूटर है आखिर में हो होता क्या हैं और कंहापे इस्तेमाल होता हैं और उसके प्रकार के बारेमे, तो चेलिये सुरु करते हैं बिना समय बर्बाद किये।

डिजिटल कंप्यूटर क्या है

डिजिटल कंप्यूटर
डिजिटल कंप्यूटर क्या है?

यंहापर हम बात करेंगे digital computer क्या है, ये डिजिटल कंप्यूटर जो हैं वह उद्देश्य या फिर हम बोले Multipurpose programming मशीन होता हैं जो कंप्यूटर मेमोरी में सेव binary instruction को पढ़ती हैं और Binary data को इनपुट की तरहा लेकर डाटा पर निर्देशों के अनुसार हमें आउटपुट या फिर result प्रदान करता हैं।डिजिटल का मतलब होता हैं अंक जो हमको डिजिट form में बता दे उसको digital computer कहा जाता हैं। डिजिटल कंप्यूटर में एक खासियत यह हैं जो कि ये result को डिजिट के form में बताता हैं और बिलकुल सही बताता हैं।

digital computer ke karya

digital computer ke karya होता हैं की data and instruction को इनपुट की तरहा लेना, जिन्हें आवश्यकता अनुसार requirement के according store करके इनके जो instruction होता हैं उनके अनुसार डेटा को process करता हैं और फिर आउटपुट के रूप में आपको result देता हैं। इसी तरहा से डिजिटल कंप्यूटर कार्य करता है।

Functional unit of digital computer in Hindi

डिजिटल कंप्यूटर में CPU(central processing unit) होता है जो पूरे कम्प्युटर सिस्टम को कंट्रोल करता है । एसे में digital computer का 4 basic functional unit होता है।

डिजिटल कंप्यूटर के प्रकार

ये कंप्यूटर basically निम्न लिखित प्रकार की होती हैं

  • सुपर कंप्यूटर (Super computer)
  • मेनफ़्रेम कंप्यूटर (Mainframe computer)
  • मिनी कंप्यूटर (Mini computer)
  • माइक्रो कंप्यूटर (Micro computer)

सुपर कंप्यूटर (Super computer)

इनकी storage capacity बहुत ज्यादा होता हैं इनकी प्रदर्शन और डाटा प्रोसेसिंग सबसे पावरफुल होता हैं सुपर कंप्यूटर scientist की खोज में एक महत्वपूर्ण हिस्सा होता हैं इसीलिए इसे खास कंप्यूटर माना जाता हैं। इसके द्वारा ही space सेंट्रल को कंट्रोल किया जाता हैं, क्या आपको पता हैं मौसम की जो भविष्यवाणी की जाती हैं कि कब बारिश होगी कब मौसम साफ होगा यह सुपर कंप्यूटर से ही होता हैं और भूकंप की जानकारी और कम्युनिकेशन के लिए भी सुपर कंप्यूटर का उपयोग किया जाता हैं पहले सुपरकंप्यूटर 1964 में बनाया गेया था जिसका नाम था CDC6600.

Super-digital-computer
Super computer

मेनफ़्रेम कंप्यूटर (Mainframe computer)

मेनफ्रेम कंप्यूटर बहुत ही बड़े structure में कंप्यूटर होते हैं । इनके अंदर बहुत सारे प्रोसेसर होता हैं और इनमें बहुत सारे इनपुट, आउटपुट pannel भी मिलती हैं। इनके इस्तेमाल सरकारी कार्यालय और बड़ी बिजनेस ऑपरेशन के लिए किया जाता हैं या ऐसे समझे मेनफ्रेम कंप्यूटर बड़े बैंक,शिक्षा,insurance company की ग्राहकों का टाटा रखने के लिए उपयोग में लिया जाता हैं। यह बड़े कमरे में रखा जाता हैं जो पूरी तरहा से cool होनी चाहिए ।

यह जो मेनफ़्रेम कंप्यूटर होता हैं यह बहुत ही महंगे होता हैं ये कंप्यूटर में जो ऑपरेटिंग सिस्टम होता हैं ये बहुत ही अलग होते हैं आप उसमें video editing हो या कुछ इंस्टॉल नहीं कर सकते सॉफ्टवेयर की बात करें तो IBM ही इसके लिए Software बनाता हैं और दूसरे कंपनी हो जो इनके लिए software बनाती हैं।

Mainframe computer
Mainframe computer

मिनी कंप्यूटर (Mini computer)

ये कंप्यूटर जी काफी सफल होता हैं, हालांकि सुपर और मेनफ्रेम कंप्यूटर जितना नहीं । बड़ा एंड माध्यम रेंज की कंपनी और प्रोडक्शन हाउसेस में किया जाता हैं इसका उपयोग और ये single and multi यूजर Concept पर काम करते हैं। मिनी कंप्यूटर जो हैं ये माइक्रो कंप्यूटर से बड़ा और सुपर कंप्यूटर से छोटा होता हैं। इन कंप्यूटर से एक साथ 20 से 30 terminal पर एक साथ काम किया जा सकता हैं।

पेहला मिनीकंप्यूटर 1960 में IBM corporation ने बनाया था जिनका नाम था IBM AS/400E शुरुआत में यह कंप्यूटर बिजनेस एप्लीकेशन Service को मध्य नजर रखते हुए बनाया गेया किउंकि इनकी performance और कार्यक्षमता मेनफ्रेम कंप्यूटर के समान ही थी, इसमें एक से अधिक processer हो सकता हैं।

डिजिटल कंप्यूटर
Mini computer

माइक्रो कंप्यूटर (Micro computer)

ये जो आपके हाथ में मोबाइल हैं ना ये है माइक्रो कंप्यूटर और जो desktop, laptop, tablet, होती हैं वो भी माइक्रो कंप्यूटर के प्रकार होता हैं। यह कंप्यूटर सबसे सस्ता हैं और बहुत तेजी से इन्हें और अच्छे बनाने के लिए developing की जाती है normally कम्युनिकेशन ,शिक्षा, मनोरंजन और छोटे-बड़े दफ्तरो का काम को पूरा करने के लिए इनका उपयोग होता हैं।

डिजिटल कंप्यूटर की विशेषताएं (features of digital computer)

digital computer डेटा को बोहोत ही बड़ी संख्या में स्टोर कर सकता हैं । ये कंप्यूटर बोहोत तेजी गति के साथ सभी काम को पूरा करता है। जो किसी भी समय में लेनहार का पुनः प्राप्त करनेमे मदत करती है।

Different between digital and analog computer in Hindi

डिजिटलएनालॉग
digital computer हर तरहा की field पर इस्तेमाल किया जाता हैं। चाहे हो गणित हो या फिर विज्ञान आप कंहीपे भी इस्तेमाल कर सकते हो।एनालॉग कंप्यूटरर जो इस्तेमाल होता हैं वो मुख्यत विज्ञान के field में उपयोग होता हैं।
इसका काम करने का तरीका जो हैं वो continious नही होता।ये finite structure पे काम करता हैं।इसके जो काम करनेका तरीका जो है वो continious होता हैं, ये infinite structure पे काम करता हैं।
ये कंप्यूटर एनालॉग कंप्यूटर से बोहोत तेज होता हैं, इनके पास ज़्यादा मेमोरी होता हैं and ये ज़्यादा शुद्ध(accurate) भी answer देता हैं।ये कंप्यूटर बोहोत slow होते है इसके पास मेमोरी कम होती है and ये शुद्ध (accurate) answer नही देता हैं।
अलग अलग तरहा का task पूरा कर सकता हैं यानी आप उसे gaming, video editing, इत्यादि काम दे तो ये कर सकता हैं।ये कोई ना कोई specific task के लिए बना होता हैं लेकिन इनसे एक ही काम कराया जा सकता हैं।
Different between digital and analog computer

डिजिटल कंप्यूटर की फायेदा और नुकसान

फायेदा

  • यह कंप्यूटर लचीलापन (flexibility)और अनुकूलता(compatibility) है।
  • digital computer की बात किया जाए तो ये कम मेहेंगी होता है।
  • इसमे हेरफेर(manipulate) करना आसान हैं।
  • ये कंप्यूटर में सूचना संग्रहण प्रणाली हो सकता है फिर एनालॉग में एक बार नई सुबिधाये प्राप्त करने के बाद डिजिटल कंप्यूटर में आसान से जोड़ा जा सकता हैं।

नुकसान

  • डिजिटल कंप्यूटर बाइनरी कोड के माध्यम से जानकारी के असतत तत्वों को हेरफेर करता है
  • एनालॉग सिग्नल नमूने के दौरान परिमाणीकरण त्रुटि।
  • डिजिटल कंप्यूटर एनालॉग कंप्यूटर के तुलना अधिक गर्मी पैदा करता है।

digital computer का जनक कोन है और किस देश में पहले डिजिटल कम्प्युटर बनाया गया था?

John Vincent Atanasoff को डिजिटल कम्प्युटर का जनक(Father of Digital Computer) कहा जाता है और आम तोर पर ये माना जाता है पहला डिजिटल कम्प्युटर का नाम Colossus था, जिसे 1943 में England में बनाया गया था पर पहला डिजिटल कम्प्युटर का नाम Electronic Numerical Integrator and Computer (ENIAC) था जिसको United States में 1945 में बनाया गया था।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

पहला डिजिटल कंप्यूटर कब बनाया गया था?

1945

पहला डिजिटल कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया था?

John Vincent Atanasoff

conclusion

आज का ये लेख आप सभीके लिए बोहोत ही important लिख है, आप को हमारा ये लिख केसा लगा कमेंट में जरूर बताएं ताकि हम भी जान सके की हमारा ये लिख आप को कितना पसंद आया, और अगर इसके बारेमे कुछ अधिक जानना हो तो भी कमेंट बताएं ताकि हम आपके जरिये कुछ खास लिख के पोहोंचा सके।

Write some interesting