Printer ki vyakhya kya hai aur uske prakar

Printer ki vyakhya

Printer एक आउटपुट डिवाइस होता है जिसको हम कंप्यूटर डाटा को एक हार्डवेयर कॉपी में generate करने के लिए इस्तेमाल करते हैं। यह मुख्यतः इस्तेमाल होता है text को प्रिंट करने के लिए या आपकी photo भी हो सकता है या कोई भी आपका object हो सकता है। यह उसका speed का quality के ऊपर निर्भर करता है। अभी अभी बाजार में कई प्रकार की Printer उपलब्ध है,पर ये प्रिंटर की क्वालिटी के उपर निर्भर करता है की वो कितना Fast और Reliable है। इसीलिए अलग अलग प्रिंटर में print करने का क्षमता अलग होता है।

प्रिंटर का इतिहास

Printer का इतिहास करीब 1300 साल पुराना है जो के सातवीं सदी में में शुरू हुआ था। इसका आविष्कार China मैं हुआ जहां टेन बांच राज करता था। इनके दौरान वहां पर लकड़ी के ब्लॉग से हो Painting करते थे। बड़े-बड़े कपड़ों को चित्र छापा करते थे। जिससे वह धार्मिक मैसेज जो होता थे वो लोगों तक पहुंचाते थे,जिसको सातवीं सदी से लेकर लगभग 9वी शादी का काफी सेयोग मिला लेकिन 9वी सदी से लेकर 13वी सदी तक इसमें बड़े बदलाव आया जो भी Sheng नाम की बड़े आर्टिस्ट हुए जिन्होंने 1041 में चिकनी मिट्टी से लेके एक movable टाइप बनाई।

की उनपर अक्सर उबरे रहते थे जिनको सही में डूबा कर कपड़ों में या पेपर पर प्रिंट किया जाता था । लेकिन कुछ प्रॉब्लम के वजह से यह ज्यादा इस्तेमाल नहीं हो पाते थे। उसके बाद उन्होंने इस चिकनी मिट्टी के वजह से इसे लकड़ी पर उबरे लकड़ी के जो movable टाइप बनाया है वह पहले से थोड़ा मजबूत थे इस्तेमाल हो पाते थे और इससे प्रिंटिंग को बहुत ज्यादा बिकाश मिला।

यूरोप में सुरू हुई प्रिंटिंग

यूरोप में अविष्कार के 400 साल बाद जाकर प्रिंटिंग शुरू हुई । दोस्तों 1440 जहां से Johannes Gutenberg जोकि एक सुनार थे जर्मनी देश की मीन शहर में रहते थे,वो सुनार होने के साथ-साथ बहुत ही अच्छे craftsman में थे जोकि धातु पर बहुत ही अच्छे आकृति बनाया करते थे और उनकी technique की जानकारी भी बहुत बहुत अच्छी थी । उन्होंने पहली बार जो movable टाइप बनाया वो तीन धातु को मिलाकर बनाया जिनका नाम है LEAD, TIN, ANTIMONY इन्हीं तीनों को मिलाकर जो उन्होंने ALA movable टाइप बनाया वह बहुत ही ज्यादा मजबूत है और इनके साथ जो Johann Fust और Piter भी थे जिन्होंने इनको आविष्कार के लिए मदत करी ।

Gutenberg ने की शुरूवात

Gutenberg ने सिर्फ moveable type printing press का ही आविष्कार नहीं किया उन्होंने oil based का आविष्कार किया और उसका इस्तेमाल किया क्योंकि oil based ink ज्यादा समय तक रहती थी पेपर पर या कपड़ों पर। इसीलिए उसका इस्तेमाल धीरे-धीरे बढ़ाने लगा। Johannes Gutenberg ने अपने जीवन काल में पहली बार कलर प्रिंट का भी प्रकाशित किया। यह एक प्रिंटिंग प्रोसेस का इजहार करना चाहते थे पैसों की तंगी के कारण वह अपने दोस्त Johan के पास गए और उनसे कुछ पैसे उधार लिए और अपनी press में ‘Bible’ किताब को छापने के लिए पैसा लगाया।

कुछ समय बाद Johan जो उनके दोस्त थे उन्होंने Gutenberg पर एक केस भी दिया जिनमें यह कहा गया था कि Gutenberg ने Johan का पैसे चुराये हें उसके बाद उन्होंने केस जीत गया और Gutenberg को उससे बड़े झटका लगा,उन्होंने सीधे प्रेस जाकर जितनी भी Bible किताब थे उनसे आधे किताब को जला दिया या नष्ट कर दिया इसीलिए इतिहास में बहुत कम Gutenberg Bibles उपलब्ध हो पाया।

पहली प्रिंटिंग प्रेस का एक शेहर में 1469 में लगी और इसके बाद प्रिंटिंग प्रेस की संख्या बढ़ते गया और 1500 के अंत तक प्रिंटिंग संख्या 417 में बदल गई । साल 1417 में Johann Heynlin ने Paris में प्रिंटिंग प्रेस की शुरुआत किए उसके बाद 1628 में नॉर्थ अमेरिका में Stafendy नाम के व्यक्ति ने प्रिंटिंग प्रेस की स्थापना की,प्रिंटिंग प्रेस भारत में 16 सदी में Goa शहर में,आई उसके बाद लगभग 50 किताबों में 1674 तक कौन से इंकार भाषा में किताब छापी गई। 1713 में मालिया में किताब छपी गई इस तरीके से पूरे विश्व में प्रिंटिंग का विकास होता चला गया।

प्रिंटर काम कैसे करता है

शुरुआत में जैसे ही आप Ctrl+ P (प्रिंट करने की Short-Cut key) कर देते हैं सबसे पहले आपका डाटा जाता है माइक्रो कंट्रोलर के पास। प्रिंट देने के बाद अगर आप pluck out भी कर देते हैं फिर भी वह प्रिंटर जारी रहता है क्योंकि वह मेमोरी में स्टोर हो जाता है। जो डाटा आप ने Printer को दिए थे। आपका प्रिंटर का जो माइक्रोप्रोसेसर है वह है वह ये चीज Decide करता है कि आप लोगों ने जो प्रिंट दिया उसमें पेज कितना है(right, left, up, down) कौन सा क्या हुआ है कहां पर align किया हुआ है,अपने कैसे सेंटर किया और कहां पर Picture आ रहा है,कहां पर टेक्स्ट है सारी चीज प्रिंटर उस चीज को देखता है।

माइक्रोकंट्रोलर देखने के बाद बाद मैं एक लेजरबीम होती है उसके अंदर वह activate होती है,साथ ही साथ में करना वायर Activate होके आपके प्रिंटर के अंदर होता है ड्रम को एक Positive चार्ज कर देता है।

आइए इस प्रक्रिया को अच्छे से समझते है

मान लीजिए चारों के ऊपर effect आ जाता है उसके बाद फाइट हो जाता है फिर होता है लेजर उसके बाद वो एकदम से white paper जैसा दिखता है,फिर उसको डालता है उसकी बनाता है और जहां पर mirror image बनाती है वहां पर आएगा नेगेटिव चार्ज। अब वो चार्ज आ गेया फिर एक्टिवेट होगा टर्नर ओर नेगेटिव जंहापे है वंहापे चिपका देगा।

उसके बाद ड्रम जैसे-जैसे Rotate करेगा नया Image आता जाएगा,नया Ink चिपकती जाएगी और वहां से एक पेपर उठाएगा और पेपर उठाकर आगे चलेगा आगे चल के साथ में ग्राम पर जो छपा हुआ था वह चीज पेपर पर आ जाएगी और मिरर इमेज पेपर पर चिपकेगी फिर पेपर जैसे-जैसे आगे बढ़ता जाएगा ड्रोन rotate करेगा उसमें नेया text छपती जाएगा, Positive effect आता रहेगा इस तरीके से होता रहेगा और पेपर आपका आगे बढ़ेगा और उसके साथ-साथ आउटपुट मिलने से पहले उस में लगा होता है हीटर उसका काम होता है जो इंक वहां पर है वह गर्म करता है क्योंकि यह करने से एक Permanent हो जाएगा और उसी Step को Follow करते हुए आपका Printer आपको आउटपुट दे देगा।

प्रिंटर के प्रकार

Printer मुख्यतः दो प्रकार का होते है, एक है Impact printer ओर दूसरा Non-impact printer

types of printer, printer diagram
types of printer, Printer Diagram

Impact Printer ki vyakhya

Impact printer एक टाइपराइटर की तरह काम करता है। ये एक print hammer या एक inked ribbon के खिलाफ pins के सेट को मारकर चरित्र या छवि को प्रिंट करता है।ये प्रिंटर सबसे पुरानी प्रिंट technologies है । तो अब समय है जानने के इसके प्रकार के बारेमे,

Dot-matrix printer (डॉट मैट्रिक्स प्रिंटर)

dot matrix printer
dot matrix printer

Dot-matrix printer पुरानी तकनीक पर हैं जो औसत दर्जे की प्रिंट गुणवत्ता का उत्पादन करते हैं। खासकर जब हार या इंकजेट प्रिंटर की तुलना में और वे भी बहुत शोर कर रहे हैं।अब Dot-matrix printer प्रभाव प्रिंटर हैं।डॉट मैट्रिक्स प्रिंटर में प्रिंटहेड कागज पर चला जाता है और जैसे ही यह कपड़े की स्याही के रिबन के खिलाफ प्रिंटहेड स्ट्राइक पर जाता है, जो फिर कागज के निर्माण चरित्र के रूप में है सीधे संपर्क में आता है । लेकिन पुरानी तकनीक पर विंगर के बावजूद Dot-matrix printer मल्टी कॉपी डॉक्यूमेंट कार्बन कॉपी प्रिंट कर सकते हैं, वे भी बहुत टिकाऊ होते हैं और लंबे समय तक चलते हैं।

Daisy wheel printer (डेज़ी व्हील प्रिंटर)

Daisywheel (image Source - Wikimedia)
Daisywheel (image Source – Wikimedia)

Daisy wheel printer एक प्रकार का लेखक है। यह एक print wheel का उपयोग करता है। प्रिंटर व्हील को Daisy wheel printer कहा जाता है। Daisy wheel के प्रत्येक पंखुड़ी में चरित्र होते हैं। एक मोटर पहिया घुमाता है,एक hammer रिबन के खिलाफ एक पंखुड़ी से टकराता है जब वांछित चरित्र कागज पर स्थिति तक पहुंच जाता है।यह कागज पर चरित्र को प्रिंट करता है।

Non-impact Printer ki vyakhya

Non-impact प्रिंटर कागज के एक टुकड़े पर अक्षर और ग्राफिक्स को प्रिंट करता है बिना कागज को हड़ताली किए। इनमें से कुछ spray ink का उपयोग करते हैं जबकि अन्य छवि बनाने के लिए गर्मी और दबाव का उपयोग करते हैं। तो अब जानते है इसके प्रकार के बारेमे,

Inkjet printer (इंकजेट प्रिंटर)

inkjet printer
Inkjet Printer

अब इंकजेट प्रिंटर सबसे साधारण प्रिंटर हैं जो घर में उपयोग किए जाते हैं। वो सस्ती हैं और वो फोटो की गुणवत्ता के परिणाम का उत्पादन करते हैं और वे एक विशिष्ट उपयोगकर्ता की आवश्यकताओं के अनुरूप हैं।अब इंकजेट प्रिंटर काम पर प्रिंटिंग के दौरान कागज के पार आगे बढ़ने वाले प्रिंट को खरीदें। और इस प्रक्रिया के दौरान प्रिंटहेड बहुत छोटे dots में कागज पर स्याही लगाता है। वास्तव में ये dots इतने छोटे होते हैं कि वे व्यास में छोटे होते हैं जो मानव बाल होते हैं। और एएजी इन डॉट्स ने कागज पर एक छवि बनाने के लिए फॉर्म को ठीक से रखा।

Laser printer (लेज़र प्रिंटर)

Laser printer
Laser Printer

व्यवसाय के लिए छोटे निजी लोगों से बड़े लोगों के लिए अलग-अलग आकार में लेजर प्रिंटर कॉम यह प्रिंटर टेक्स्ट और सिंपल ग्राफिक्स प्रिंट करते समय उच्चतम गुणवत्ता वाला प्रिंट प्रदान करता है और ये जेट प्रिंटर की तुलना में अधिक महंगे भी होते हैं।

अब एक लेज़र प्रिंटर एक घूर्णन ड्रम पर पहले विद्युत आवेश पर रखकर काम करता है। फिर एक लेजर ड्रम पर एक कम विद्युत चार्ज का निर्वहन करता है लेजर उस छवि को खींचता है जिसे वह ड्रम पर ही प्रिंट करने जा रहा है, फिर ड्रम को एक ठीक काले पाउडर के रूप में टोनर के रूप में लेपित किया जाता है।और जैसा कि ड्रम को टोनर कोड किया जा रहा है, केवल उन क्षेत्रों में चिपकता है जहां लेजर ने खींचा है।फिर टर्नरी को कागज पर रखा जाता है और परिणाम एक उच्च गुणवत्ता वाला प्रिंट होता है जो कि किसी से पीछे नहीं है।

Thermal printer (थर्मल प्रिंटर)

thermal printer
Thermal Printer

गर्मी से Thermal Printer प्रिंटिंग यह Thermal पेपर नामक विशेष प्रिंट पेपर का उपयोग किया जाता है और इस थर्मल पेपर पर मोम सबसे अच्छा होता है और जब इस स्याही पर गर्मी लगाई जाती है तो यह काला हो जाता है। तो Thermal Printer में केवल उन चीजों को प्रिंट करता है जो प्रिंट को प्रिंट किया जाना चाहिए। फिर जब स्याही को ठंडा किया जाता है, तो यह स्थायी हो जाता है और इस तकनीक के कारण थर्मल प्रिंटर बहुत शांत होते हैं। थर्मल प्रिंटर आमतौर पर मुद्रण स्तर और बारकोड के लिए उपयोग किया जाता है।

5 functions of printer

  1. जैसे कलर प्रिंट, काला ओर सफेद प्रिंट।
  2. स्कैन, फैक्स, कॉपी, डबल साइड प्रिंट, मल्टी-पेज कॉपी, स्कैन।
  3. साथ ही, उन्हें बहु-आकार के पेपर प्रिंट को शामिल करना चाहिए।
  4. फोटो प्रिंटिंग, कार्ड प्रिंटिंग, लेबल प्रिंटिंग, लिफाफा प्रिंटिंग।
  5. कानूनी आकार के कागज छपाई के साथ-साथ लगभग हर आकार जो दैनिक जीवन और काम में उपयोग किया जाएगा।

Difference between Impact printer and Non-impact printer

IMPACT PRINTERNON-IMPACT PRINTER
ये प्रिंट हथौड़ा या एक स्याही रिबन के खिलाफ हड़ताली द्वारा पात्रों या छवियों को मुद्रित करता है।Non-Impact Printer कागज पर प्रहार के बिना चरित्र और छवियों को प्रिंट करता है।
इसकी गति धीमी हैयह गति में तेज है।
इसकी printing quality Non-impact प्रिंटर कि तुलना से कम हैइसका printing quality अधिक है।
Impact Printer सामान्य रूप से निरंतर पेपर शीट का उपयोग करता है।Non-Impact Printer सामान्य रूप से व्यक्तिगत पेपर शीट का उपयोग करता है।
ये छपाई के दौरान शोर(Noise) उत्पन्न करता हैये printing के दौरान शोर(Noise) उत्पन्न नहीं करता।
Impact Printer printing के लिए inked वाले रिबन का उपयोग करता है।Non-Impact Printer पेंटिंग के लिए toner या cartridge का उपयोग करता है।
ये कम खर्चीला है।Non-Impact Printer अधिक महंगा है।
Dot matrix एक impact प्रिंटर है।Laser printer एक non-impact printer है।
Difference between Impact and Non-impact printer

अधिकतर पूछे जाने वाले सबाल

घर में एस्तेमाल करने के लिए बेस्ट प्रिंटर कोनसा है ?(Best printer for Home Use)

घरमें एस्तेमाल करने के लिए सबसे बेस्ट और अच्छा प्रिंटर है Laser Printer. बाजार में कई सारे laser printer उपलब्ध है। यदि आप सबसे अच्छा प्रिंटर लेने के लिए सोच रहा हें आप ये लिंक पर जाकर देख सकते है

Modern Printer का जनक कोन है और उनका पूरा नाम क्या है?

Modern Printer का जनक Johannes Gutenberg है जिनका पूरा नाम है Johann Gensfleisch zur Laden zum Gutenberg

WEP printer drivers for Windows 7 (Dot Matrix Printer)

यदि आपको WEP printer drivers की जरूरत है वो भी Windows 7 के लिए, तो आप नीचे दिया गया लिंक पे जाकर उसको Free में download कर सकते हें। WEP printer drivers for Windows 7 के लिए पूरी installation process भी वहाँ पर है।

CLICK HERE TO DOWNLOAD

Conclusion

इस लिख में आप जाने printer ओर उसके प्रकार के बारेमे। उमीद करता हूँ कि आपको ये लिख पसंद आया होगा, अगर आप ये लिख पूरा पढ़ा हो तो आपको प्रिंटर के बारेमे पूरा पता चेल चुका होगा और आपको प्रिंटर को पहचानने में आसान होगा । हम हमेशा कोशिस करते है कि आप के जरिये ऐसे ही अछि अछि लिख पोहोंचा सके और आप हमारे साथ जुड़े रहिये। धन्यबाद।

saktiprasad

में एक SEO लेखक हूँ। मुझे कम्प्युटर के बारे में रिसर्च करना और दूसरों के साथ शेयर करना अच्छा लगता है। फिलहाल के लिए में कम्प्युटर शिक्षा में लिखता हूँ। इसके अलावा में दूसरों के लिए भी SEO लिखता हूँ। आप मुझे मेरा सोशल मीडिया पर फॉलो करसकते हें।

saktiprasad has 33 posts and counting. See all posts by saktiprasad

Leave a Reply

Your email address will not be published.