सॉफ्टवेयर क्या है। What is software piracy in Hindi

कई सारे प्रोग्राम के संग्रह को सॉफ्टवेयर कहा जाता है। सॉफ्टवेयर को हम देख नही सकते और उससे छुं भी नहीं सकते क्योंकि इसका भौतिक अस्तित्व नहीं होता नहीं होता ये एक आभासी वस्तु है जिसको सिर्फ समझा जा सकता है समझा जा सकता है।

केवल एक सॉफ्टवेयर की मदद से हम सारे काम नहीं कर सकते इसलिए अलग-अलग काम के लिए अलग-अलग काम के लिए अलग-अलग सॉफ्टवेयर का निर्माण किया जाता है, जैसे photoshop में सिर्फ photo edit कर सकते हैं,MS Word में कोई पत्र बनाना हो या फिर document बनाना हो तो बना सकते हैं।

सॉफ्टवेयर (Software) Computer
Software

सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर दोनों एक दूसरे के बिना अधूरे हैं क्योंकि अगर आपके पास हार्डवेयर है और सॉफ्टवेयर नहीं है तो वह सिर्फ एक डिब्बे की तरह है, और अगर हार्डवेयर नहीं है तो आप सॉफ्टवेयर डालोगे किस में ?

Ex:: MS Office, photoshop, Adobe Reader

सॉफ्टवेयर के प्रकार

ये मुख्यतः निम्नलिखित प्रकार का होता है,

  1. सिस्टम सॉफ्टवेयर/System Software
  2. एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर / Application Software
  3. यूटिलिटी सॉफ्टवेयर/Utility Software

सिस्टम सॉफ्टवेयर / System Software

System software को master software भी कहा जाता है,क्योंकि इसके बिना आप किसी दूसरे software ऐड नहीं कर सकते। System software जो काम होता है वह ऑपरेटिंग सिस्टम से कनेक्ट होता है। यह कंप्यूटर के सभी पार्ट्स को कंट्रोल करता है। यह हार्डवेयर को चलाने के लिए इस्तेमाल होता है इसके बिना किसी हार्डवेयर पर हम कार्य नहीं कर सकते।

EX: Windows xp, Windows Vista, Windows-7, Windows-8,Fedora, Linux.

एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर /Application Software

Application software उस प्रोग्राम को कहा जाता है जिन्हें वास्तविक कार्य करने के लिए लिखा जाता है, जैसे कि कोई पत्र लिखना हो या कोई document करना हो तो MS Word और अगर कोई photo edit करना हो तो photoshop का इस्तेमाल करते हैं।

इसका उपयोग official कार्य के लिए किया जाता है, एक कंप्यूटर में install करने के बाद ही इसका उपयोग किया जाता है।

आप जब भी कंप्यूटर सीखने के लिए जाते हैं और जो चीज( Ms Word, Tally, Adobe Photoshop-mail, Corel Draw) के बारे में सीखते हैं वह सब application software होते हैं और मोबाइल में जो आप download करते हैं वह भी application software होते हैं।

यूटिलिटी सॉफ्टवेयर / Utility Software

यूटिलिटी सॉफ्टवेयर का काम होता है सिस्टम सॉफ्टवेयर को ठीक करना,मतलब जब भी सिस्टम सॉफ्टवेयर कोई भी खराबी आ जाए या कोई भी VIRUS (Vital Information Resources Under Seize) आ जाए तो यूटिलिटी software के माध्यम से उसे ठीक किया जा सकता है।

Utility software
Utility software

यह वास्तव में कोई कार्य नहीं करता लेकिन कार्य करने में हमारा मदद करता है,जैसे कि अगर फाइल का backup बनाना या फिर कंप्यूटर से VIRUS निकालना हो तो यह हमारा सहायता करता है।

EX: Anti-Virus, ERD, HBCD

प्रोग्रामिंग क्या होता है

Software निर्माण के लिए किसी निर्धारित कंप्यूटर language में सॉफ्टवेयर बनाना का code लिखना, क्योंकि इसकी की एक परिभाषा यह भी है कि सॉफ्टवेयर कंप्यूटर भाषा में लिखे गए statement के समूह जिन्हें हम प्रोग्राम कहते हैं उन programs का समूह होता है।

Programming
programming

प्रोग्रामर किसे कहते है ओर उनकी सैलेरी कितना होता है

जो व्यक्ति कंप्यूटर लैंग्वेज को इस्तेमाल करके कंप्यूटर की प्रोग्राम को लिखता लिखता है उसी को programmer कहते हैं। एक प्रोग्रामर को बहुत सारे आदर मिलता है,उनके salary वे उसकी काम के ऊपर निर्भर करता है फिर भी यह लोग 25,000 से लेकर लाखों तक का income करते हैं।

एक प्रोग्रामर कैसे बने

प्रोग्रामर बनने के लिए ये छिस बोहोत जरूरी है,

  • कंप्यूटर भाषा की अच्छी पकड़ और समझ होना जरूरी है । भाषा जो व्यवहार में है।
  • अच्छी logical ability होना जरूरी है।(Reasoning and Logic)
  • कंप्यूटर basic कार्यों के बारे में जानकारी का विवरण होना चाहिए।
  • कंप्यूटर flow chart के बारेमे जानकारी चाहिए।
  • डिजाइन कैसे बनाते है उसके बारे मे अछि knowledge होना बहुत जरूरी है।
  • और जो सबसे मुख्य बात है वो है English, इसको तो बिलकुल अछि तरीके आना चाहिए।

Programming language क्या है

यह एक तरह का formal language है जिसके माध्यम से हम सॉफ्टवेयर प्रोग्राम का devlop करते हैं। जैसे हिंदी,अंग्रेजी, विभिन्न भाषा की अपने अपने व्याकरण होते हैं वैसे ही कंप्यूटर प्रोग्राम की भी एक आपने व्याकरण होता है,उसमें commands होते हैं और जिसे instruction बनाते हैं।

हर प्रोग्रामिंग language का एक अलग अलग format होता है और उसकी ग्रामर के अनुसार कोडिंग की जाती है और programms को creat  किया जाता है।

Types of programming language

Programming language मुक्ष्यतः दो प्रकार का होता है यथा

  1. High level language
  2. Low level language

High level language

इसको पढ़ना और समझना आसान होता है,इसका इस्तेमाल एप्लीकेशन devloping के लिए किया जाता है।

EX: C, C++,Java, etc

Low level language

Low level language को पढ़ना और समझना कठिन होता है। इसका इस्तेमाल हम system programming ओर machine level programming के लिए करते हैं।

EX: Assembly, Language, Machine language.

SOME POINTS

  • Compiler and interpreter का उपयोग उच्च स्तरीय भाषा के अनुवाद के लिए किया जाता है।
  • Assembly का उपयोग  Aasembly language को machine language में translate करने के लिए किया जाता है। 
  • मशीन भाषा binary codes की एक श्रृंखला की सामग्री है जो सीधे कंप्यूटर सीपीयू द्वारा समझी जाती है। 
  • मशीन भाषा मानव पठनीय होने के लिए डिजाइन नहीं की गई है।

Difference between software and hardware

SOFTWAREHARDWARE
सॉफ्टवेयर एक प्रोग्राम होता है जो कि सीपीयू द्वारा execute किया जाता है।यह कंप्यूटर का एक physical part होता है। 
इसको छुआ नहीं जा सकता केबोल इसको अनुभब किया जा सकता है।इसको हम आंखों से देख सकते और हाथों से छू भी  सकते है। 
सॉफ्टवेयर को बिना हार्डवेयर के execute नहीं किया जा सकता।यह सॉफ्टवेयर के बिना कोई भी task perform  नहीं कर सकता है।
हमारा जो सॉफ्टवेयर होता है वह कंप्यूटर VIRUS वजह से affected हो जाता है।हार्डवेयर के ऊपर कंप्यूटर VIRUS का कोई प्रभाव नहीं पड़ता क्योंकि यह एक physical part होता है।
अगर आप चाहो तो सॉफ्टवेयर की बहुत सारे copies बना सकते हो।हम हार्डवेयर का duplicate copies नहीं बना सकते क्योंकि सीपीयू, माउस,कीबोर्ड,आदि हार्डवेयर होते है।
हम सॉफ्टवेयर को electrically ट्रांसफर कर सकते है।हार्डवेयर को electrically transferred नहीं कर सकते लेकिन physically transfer कर सकते हो।
Difference between software and hardware

Instruction किसे कहते है

Instruction शिक्षा ओं से संबंधित एक शब्द है। सूचना या ज्ञान प्रदान करने की प्रक्रिया को instruction कहते हैं, मतलब जब कोई व्यक्ति अपने सूचना या ज्ञान को किसी दूसरे व्यक्ति को प्रदान करता है उसी instruction कहते हैं।

What is software piracy in Hindi

आप जरूर मोबाइल हो या ओंपुटर में बहुत सारे एप्लिकेशन एस्तेमाल करते होंगे। यदि आप मोबाइल में किसी सॉफ्टवेर को इन्स्टाल करते हें तो आप जानते होंगे की बहत सारे सॉफ्टवेर मुफ्त में मिलते हें तो कुछ सॉफ्टवेर के लिए पैसा देना पड़ता है। और कुछ सॉफ्टवेर ईएसए भी होता है की मुफ्त मे तो मिल जाता है पर उनके अंदर कुछ एसा features होता हैं उनके लिए पैसा देना पड़ता हैं।

तो एसे सॉफ्टवेर को कुछ लोग Black-Hat trick के एस्तेमाल करते हें और खुद मुनाफा के लिए उसको काम दाम या मुफ्त में लोगो को दे देते हें। इसी चीज को कम्प्युटर की भाषा मे Software piracy बोला जाता है।

Computer software can be defined as __________________(कंप्यूटर सॉफ्टवेयर को __________________ के रूप में परिभाषित किया जा सकता है)

The instruction that tell the computer what to do(वह निर्देश जो कंप्यूटर को बताता है कि क्या करना है)

आज आपने क्या सीखा

आज हमने सीखा की सॉफ्टवेयर किसे कहते है,उसके प्रकार के बारेमे।उमीद करता हूँ की हमारा ये लिख आपको जरूर पसंद आया होगा, अगर पसंद आया हो तो अपना राय जरूर दे,ओर इसके बारेमे अगर कोई डाउट हो तो हमे contact कीजिए। धन्यबाद

Write some interesting